Fish Farming क्या है?मछली पालन का व्यापार (बिजनेस) कैसे शुरू करें 

देश की आबादी में से अधिकतर जनसंख्या गांव में ही निवास करती है, ऐसे में जब गांव में बिजनेस करने की बात आती है तो मत्स्य (मछली) पालन एक प्रमुख बिजनेस है जिसे सही प्लानिंग के साथ करने पर अच्छा लाभ कमाया जा सकता है।

Fish Farming:मछली पालन बिजनेस कैसे करें?

अगर आप भी fish farming  business  पर काम करने का मन बना रहे हैं, तो इस लेख में हम आपके साथ वह सभी महत्वपूर्ण जानकारियां साझा कर रहे है। जिससे आपको इस बिजनेस की सही शुरुआत करने और अधिक लाभ पाने में मदद मिलेगी

फिश फार्मिंग क्या है?

मछली पालन को ही अंग्रेजी भाषा में फिश फार्मिंग कहा जाता है। फिश फार्मिंग का मतलब होता है मछलियों को पालकर उनके आकार को बड़ा करना और उन्हें बाजार में बेचना। 

इतना ही नहीं इस बिजनेस में लगने वाला इन्वेस्टमेंट प्राप्त होने वाले फायदे की तुलना में बहुत कम होता है। आसान भाषा में कहा जाए तो इस बिजनेस में आप सीधे तौर पर 5 से 10% तक फायदा कमाते हैं।

आइए जानते हैं फिश फार्मिंग बिजनेस कैसे करें?

#1: जगह का प्रबंध करें

मछली पालन करने के लिए सबसे पहले आपको एक तालाब की आवश्यकता होगी,जिसमें साफ और अच्छा पानी हो। इसके लिए आपको जमीन की आवश्यकता पड़ेगी,ताकि आप उसमें पानी भरकर मछलियों को डाल सके। इसीलिए सबसे पहले आपको एक साफ पानी वाले तालाब का प्रबंध करना है।

#2: सही जगह का चयन करें

मछली पालने के लिए आपको एक उचित जगह का चयन करना बहुत ही आवश्यक होता है,क्योंकि मछलियों पर बदलती जलवायु और मौसम का नकारात्मक प्रभाव पड़ता है, जिसमें कई मछलियां मर भी जाती है।  

हमारे हिसाब से आप बरसात के आने से पहले तालाब का निर्माण कर लें, जिससे आप गर्मियों के मौसम में उसमे मछली डाल सकें।

#3‌: मछली पालन के लिए तालाब या टंकी का निर्माण करे

मछली पालने के लिए टंकी या फिर तालाब का निर्माण करना आवश्यक होता है।टंकी का निर्माण करने के लिए आप चाहे तो प्लास्टिक के बड़े बड़े ड्रम का इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर आप चाहे तो जेसीबी मशीन की सहायता से तालाब का निर्माण करवा सकते हैं। 

अगर आपके पास पैसे कम है, तो आप कुछ लेबर को साथ लेकर कुदाली और फावड़ा से तालाब बना सकते हैं।

#4 मछलियो के चारा का प्रबंध करे

यह सबसे जरूरी बात होती है, जो आपको बिल्कुल ध्यान से करनी है, क्योंकि जब आप मछलियों को उचित चारा देंगे, तभी उनका विकास होगा और आगे चलकर वह फायदा देंगी।

इसीलिए आपको मछलियों को दिन में कम से कम तीन टाइम खाना देना है। मछलियां खाने में सोयाबीन, गेहूं, दर्रा और आटा खाती है,तो इसीलिए आप यह सभी चीजें उन्हें दे सकते हैं।

5: मछली को जिंदा रखने का इंतजाम

जब लोग मछली पालते हैं, तो खास तौर पर यह देखा जाता है कि, उनकी अधिकतर मछलियां बिक्री के लिए तैयार होने से पहले ही मर जाती हैं, इसके पीछे सबसे बड़ा मुख्य कारण यह है कि उनके पास मछली को जिंदा रखने का पर्याप्त इंतजाम नहीं होता या फिर उनके पास जानकारी का अभाव होता है। 

मछलियों के मरने की सबसे बड़ी वजह यह है कि, उन्हें टाइम पर चारा नहीं दिया जाता है, साथ ही जिस तालाब में मछली पाली जाती है, उसका पानी समय-समय पर साफ नहीं किया जाता ,जिसके कारण दूषित पानी में रहने के कारण मछलियों की मौत हो जाती है। 

इसीलिए आपको तालाब का पानी समय-समय पर बदलते रहना चाहिए और तालाब में कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार की जहरीली चीज ना डाल सके, इसका ध्यान रखना चाहिए।

#6: मछली की विभिन्न प्रजातीयां

हमारे देश में व्यापार के उद्देश्य से अलग-अलग प्रजाति की मछलियों का पालन किया जाता है।

आप अपने इलाके के अनुसार मछली पाल सकते हैं और फायदा कमा सकते हैं। इंडिया में मछलियों की प्रजाति कतला, चिंगरी,टूना,ग्रास,तलबिया,बामी,कोतली,बिग्रेड,मोंगरी,कोमलकार ,टेंगना,सर्पा है।

 इनमें से आप अपनी सुविधा और अपने बजट के अनुसार मछली पालन कर सकते हैं।

#7: मछली का रख रखाव करना

कई बार मछलियों को तालाब में कुछ बीमारियां अपनी चपेट में ले लेती हैं, इस समस्या से निपटने के लिए सामान्य तौर पर पोटेशियम परमैंगनेट और सोडियम का इस्तेमाल किया जाता है, ताकि तालाब के कीटाणुओं को खत्म किया जा सके।

#8: मछली पालन में इस्तेमाल होने वाले उपकरण

• मछली टैंक और तालाब    

मछली पालन में आपको तालाब और टैंक की आवश्यकता होती है। इसके लिए आप चाहे तो इसे जमीन पर बनवा सकते हैं या फिर घर की छत पर भी इसका निर्माण कर सकते हैं।

आप चाहे तो तालाब किराए पर भी ले सकते हैं।  कीमत इस बात पर निर्भर होगी कि आप कितने बड़े क्षेत्र में मछली पालन कर रहे हैं और आपके एरिया में किराए का रेट क्या चल रहा है।

• मछली पालन में इस्तेमाल होने वाले उपकरण 

मछली पालन में आपको पाइप,टंकी,दाना, चारा, दवाई का छिड़काव करने की मशीन, फावड़ा, नेट जाल, तैयार मछलियों को रखने के लिए कंटेनर बॉक्स, टंकी में पानी भरने के लिए मोटर की आवश्यकता पड़ेगी।इन सभी चीजों को आप अपने लोकल बाजार से ले सकते हैं या फिर ऑनलाइन भी मंगा सकते हैं।

#9: मछली पालन करने के फायदे

हमारे देश में मछली पालन काफी बड़े स्तर पर किया जाता है और लोग इससे काफी अच्छा फायदा भी कमा रहे हैं। कई लोगों ने मछली पालन करके अपनी जिंदगी बदल दी है।

 हमारे देश में मछलियों की कई प्रकार की प्रजाति पाई जाती है, जिनमें से आप अपने अनुकूल किसी भी प्रजाति की मछली पाल सकते हैं और उससे फायदा कमा सकते हैं। मछलियां बड़ी ही आसानी से थोक मार्केट में या फिर लोकल बाजार में बिक जाती है,इसीलिए जब आप एक बार एक राउंड में मछली पालकर बाजार में बेच देते हैं, तो आपको काफी अच्छा फायदा प्राप्त होता है।

10: मछली पालन के लिए आवश्यक लाइसेंस

आपको बता दें कि अगर आप छोटे स्तर पर मछली पालन कर रहे हैं, तो इसके लिए आपको किसी भी प्रकार के कोई भी लाइसेंस को लेने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि अक्सर हमने गांव में देखा है कि लोग गांव के सरकारी तालाब में मछली डाल देते हैं और उसे तैयार होने पर बाजार में जाकर बेच देते हैं।

वहीं अगर आप बड़े स्तर पर मछली पालन कर रहे हैं, यानी कि आप किसी कंपनी के साथ जुड़कर मछली पालन का व्यवसाय करना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए कुछ लाइसेंस लेने की आवश्यकता पड़ेगी।

सामान्य तौर पर आप जिस कंपनी के साथ मिलकर मछली पालन का बिजनेस करते हैं, वही लाइसेंस की सारी प्रक्रिया पूरी कर देती है। आपको बस मछली तैयार होने पर उन्हें दे देना होता है। ऐसी कंपनियां मछली पालन करने वाले इच्छुक लोगों से उनके आधार कार्ड, जमीन की इंफॉर्मेशन, फोन नंबर, बैंक अकाउंट नंबर, पासपोर्ट साइज फोटो और गारंटी की डिमांड करती हैं।

KISAN SEVA KENDRA द्वारा प्रकाशित

Kisan seva kendra

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: